जन्म का दिन और स्वभाव

जन्म के दिन मान्यता सूर्योदय से लेकर दूसरे दिन के सूर्योदय तक रहती है। तारीख बदल जाती है लेकिन दिन की मान्यता चौबीस घंटे रहती है। जातक का जन्म जिस दिन होता है उस दिन के अनुसार जातक का स्वभाव भी होता है,जातक के जन्म दिन के बारे मे जो शास्त्रीय प्रमाण मिलते है वह इस प्रकार से है :-

शनिवार शनिवार के दिन जन्म लेने वाला जातक आलसी माना जाता है जब तक कोई कारण जो जीवन से सम्बन्धित है नही बने तब तक उसे काम करने की चिन्ता नही रहती है। जब भूख लगती है तो भोजन के जुगाड की चिन्ता की जानी मानी जाती है जब धूप गर्मी और सर्दी का असर परेशान करने लगे तो जातक को इन कारणो से बचने की चिन्ता लगती है। सन्तान की अधिकता होती है और अधिकतर मामले मे कन्या सन्तान अधिक होती है सन्तान की प्रकृति भी पिता के रहते वैसी ही बनी रहती है निवास स्थान भी साफ़ सुथरा नही माना जा सकता है,शीलन और बदबूदार ही निवास अधिकतर पाये जाते है। अगर इस दिन पैदा होने वाले जातक के साथ कोई आदेश करने वाला है यानी इस दिन पैदा होने वाले जातक को हर काम के लिये आदेश समय से मिलता रहे और आदेश मे भी बल हो तो जातक आगे बढने लगता है। अपने आलसी प्रभाव के कारण जातक को काम से बचने के लिये तर्क करने की आदत भी देखी जाती है जो भी काम का समय होता है उस काम को करने के लिये अगर कहा जाये और जातक जब तक अपनी तर्क को पूरा नही कर लेगा तब तक वह काम को नही करेगा,अक्सर यह भी देखा जाता है कि जातक को बल पूर्वक काम के लिये प्रेरित किया जाये तो वह काम करता है,अधिक बोलने के कारण अक्सर उसके परिवार वाले उसके बढबोलेपन से बचना चाहते है इसलिये भी अक्सर वह परिवार खुद और आगे बच्चों की जिम्मेदारी से बचता रहता है। इस दिन पैदा होने वाले जातक कंजूस अधिक होते है और कभी कभी उन्हे लगता है कि जितना वह खर्च करना चाहते है वह होता नही है,यह भी देखा जाता है कि इस दिन पैदा होने वाले जातक अक्सर अपनी कंजूसी को इस कदर भी रखते है कि वे न तो खा सकते है और न ही पहिन सकते है,वे कम से कम खर्चे मे अपनी जीवन नौका को पार करने की कोशिश करते है यह भी होता है कि जब जातक अधिक कंजूसी मे आजाता है तो उसकी पत्नी या पति भी उससे दूर रहने की कोशिश करते है शरीर मे कमजोरी होने और कामेक्षा के अधिक जाग्रत नही होने पर कन्या सन्तान का अधिक होना माना जाता है। इन सब बातो के होने के बावजूद भी मन की स्थिति कभी कभी फ़्रीज हो जाती है और वे कुछ कहना चाहते है लेकिन कह नही पाते है।
Unless otherwise stated, the content of this page is licensed under Creative Commons Attribution-ShareAlike 3.0 License